सुरक्षित सेक्स और यौन स्वास्थ्य के बारे में 10 मिथ

यौन स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षित सेक्‍स के बारे में हमेशा लोगों के मन में मिथ होते हैं, यौन स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर हमेशा मतभेद होता है।

यौन संबंधित मिथक

yaun-sambandhit-mithak-650x433
यौन स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षित सेक्‍स के बारे में हमेशा लोगों के मन में मिथ होते हैं। कुछ लोगों को लगता है कि यौन संचारित रोगों को लगता है कि टॉयलेट सीट पर होने वाले संक्रमण से भी यौन रोग हो सकता है। और कुछ को लगता है कि पहली बार सेक्‍स करने से गर्भधारण नहीं होता। आपके इन्‍हीं मिथ के बारे में हम आपको स्‍लाइडशो में बता रहे हैं।

टॉयलेट शीट और एसटीडीज
toilet-seat-aur-stds-650x433

यौन संचारित रोग संक्रमण से फैलते हैं। ये बीमारी असुरक्षित यौन संबंधों से फैलती है। इसके बैक्‍टीरिया शरीर के बाहर नहीं पनपते। हालांकि ये बीमारियां एक व्‍यक्ति के दूसरे में फैल सकती हैं, लेकिन टॉयलेट सीट एसटीडीज के लिए बिलकुल भी जिम्‍मेदार नहीं होती। यदि इस संक्रमण से ग्रस्‍त किसी व्‍यक्ति ने आपका टॉयलेट प्रयोग किया है और उसके तुरंत बाद आप भी उस बाथरूम का प्रयोग कर रहे हैं तो आपके संक्रमित होने का खतरा जरूर हो सकता है।

पहली बार सेक्‍स और गर्भधारण
pehli-baar-sex-aur-garbhadharan-650x433

लोगों के अंदर यह भावना रहती है कि पहली बार सेक्‍स करने से गर्भधारण की संभावना कम होती है। जबकि सच यह है कि आपने सही समय पर सेक्‍स किया है तो आप गर्भधारण कर सकती हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह पहली बार है या दूसरी बार। ओव्‍यूलेशन का वक्‍त गर्भधारण के लिए होता है, यदि आपने इस दौरान सेक्‍स संबंध बनाये हैं तो गर्भधारण की संभावना रहती है।

पीरियड और गर्भधारण

periods-aur-garbhadharan-650x433

कुछ महिलाओं को लगता है कि पीरियड्स के दौरान सेक्‍स संबंध बनाने से गर्भधारण की संभावना कम होती है। जबकि सच्‍चाई यह है कि आपने यदि पीरियड के समय असुरक्षि‍त यौन संबंध बनाये हैं तो आप गर्भवती हो सकती हैं। कुछ महिलाओं का पीरियड का समय अधिक होता है, जो ओव्‍यूलेशन की शुरूआत तक जा सकता है। ऐसे में आपके द्वारा बनाया गया सेक्‍स संबंध प्रेग्‍नेंसी का कारण बन सकता है।

ओरल सेक्‍स खतरनाक नहीं

oral-sex-khatarnak-nahi-650x433

ओरल सेक्‍स करने से कोई खतरा नहीं होता, इस बात का भ्रम लोगों में हमेशा रहता है, जबकि ओरल सेक्‍स बीमारियों को फैलाने के लिए जिम्‍मेदार है। ओरल सेक्‍स से सेक्‍सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों के फैलने का ज्‍यादा खतरा होता है। ओरल सेक्‍स के दौरान अगर मुंह या गले में कही कटा हो तो इससे यौन रोगों के फैलने का खतरा होता है। कुछ लोगों को तो इससे कैंसर तक हो सकता है।

फोरप्‍ले नही करना चाहिए

foreplay-nahi-karna-chahiye-650x433

कुछ लोग सेक्‍स के दौरान फोरप्‍ले को सही नहीं मानते, जबकि सेक्‍स का आनंद लेने के लिए फोरप्‍ले बहुत जरूरी है। फोरप्‍ले के सही तरीके अपनाकर आप अपने पार्टनर को खुश कर सकते हैं।

प्रीमेच्‍योर इजेकुलेशन बीमारी नहीं

premature-ejaculation-bimari-nahi-650x433

समय से पहले शुक्राणुओं का निकलना यानी शीघ्रपतन यौन संबंधित बीमारी है, जो पुरूषों में सबसे सामान्‍य है। सेक्‍स के लिए तैयार होते वक्‍त फोरप्‍ले के दौरान ही अगर सीमन बाहर आता है तो इसे प्रीमेच्‍योर इजेकुलेशन कहते हैं। ऐसी स्थिति में पुरूष अपनी महिला पार्टनर को संतुष्‍ट नही कर पाता है। इसकी वजह से सेक्‍स की इच्‍छा में कमी भी हो सकती है।

सेक्‍स क्षमता बढ़ाने वाली दवायें

sex-shamta-badhane-wali-dawaye-650x433

यह भी भ्रम है कि सेक्‍स के दौरान सेक्‍स पॉवर बढ़ाने वाली दवाओं का प्रयोग करना चाहिए। बाजारों में मिलने वाली विभिन्‍न प्रकार की दवाओं का प्रयोग करके कुछ समय के लिए आप अपनी सेक्‍स क्षमता को बढ़ा सकते हैं लेकिन इन दवाओं का साइड इफेक्‍ट ज्‍यादा होता है। इसलिए इन दवाओं का प्रयोग न करें। इसके कारण तनाव, सिरदर्द, हल्‍का बुखार और चकत्‍ते पड़ सकते हैं।

गर्भावस्‍था के दौरान सेक्‍स न करें

garbhavastha-me-sex-na-kare-650x433

गर्भवती महिलायें गर्भधारण के बाद सेक्‍स करने से बचती हैं, इसके पीछे उनकी मान्‍यता होती है कि इससे बच्‍चे को चोट लग सकती है। जबकि सच यह है कि गर्भावस्‍था के दौरान भी सेक्‍स संबंध बनाये जा सकते हैं। लेकिन गर्भावस्‍था की निश्चित अवधि के बाद सेक्‍स संबंध बिलकुल नही बनाने चाहिए।

मीनोपॉज के बाद सेक्‍स लाइफ समाप्‍त

menopause-ke-baad-sex-life-samapt-650x433

महिलाओं को यह लगता है कि मीनोपॉज के बाद महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो जाती है। जबकि मीनोपॉज के बाद भी महिलाएं सेक्‍स संबंध बना सकती हैं। मीनोपॉज बंद होने का मतलब यह नही कि महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो गई।

खान-पान और सेक्‍स

khan-paan-aur-sex-650x433

कुछ लोगों को लगता है कि खानपान का सेक्‍स लाइफ पर कोई असर नहीं पड़ता, जबकि सच यह है कि खानपान सेहत के साथ-साथ सेक्‍स लाइफ पर भी असर डालता है। वास्‍तविक यह है कि सेक्‍स पॉवर आपकी डाइट चार्ट पर निर्भर करती है। अगर आप हेल्‍थी और पोषणयुक्‍त आहार का सेवन करते हैं तो आपकी सेक्‍स पॉवर ज्‍यादा होगी।

Source By : http://www.onlymyhealth.com/

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *