सेक्स पॉवर बढ़ाये इन तीन चीजो के सेवन से

dollarphotoclub_62532251_57a2559f3ee80

आजकल ज्यादातर पुरुषो को यौन कमजोरी की शिकायत रहती हैं इन समस्याओं में नपुंसकता, स्वप्नदोष, धातु दोष आदि प्रमुख हैं, इसके अनेक कारण है जैसे हस्तमैथुन, अत्यधिक उत्तेजक फिल्मे, उत्तेजक लेख पढना, असंयमित खान-पान या शरीर में पोषक तत्वों के कारण l ऐसे में ये साधारण सा दिखने वाला प्रयोग बेहद प्रभावकारी है l मगर इसमें नियमितता बहुत ज़रूरी है l आज हम आपको बताने जा रहे हैं इन सब से निजात पाने का उपचार

यौन शक्ति के लिए सेब निम्बू और लौंग का प्रयोग

maxresdefault-3
एक सेब लीजिये, अभी इस में जितनी हो सके उतनी लौंग लगा दीजिए। इसी तरह से एक अच्छा सा बड़े आकार का नींबू लीजिए। इसमें जितनी ज्यादा से ज्यादा हो सके, लौंग लगाकर दोनों फलों को एक सप्ताह तक किसी बर्तन में ढककर रख दीजिए, और ये बर्तन किसी ठन्डे स्थान पर रख दीजिये, जिस से ये दोनों फल खराब ना हो सकें। एक सप्ताह बाद दोनों फलों में से लौंग निकालकर अलग-अलग कांच कि बोतल में भरकर रख लें। पहले दिन नींबू वाले दो लौंग और दुसरे दिन सेब वाले दो लौंग को बारीक कूटकर बकरी के दूध के साथ सेवन करें, अगर बकरी का दूध ना मिले तो देसी गाय के दूध को इस्तेमाल कीजिये। इस तरह से बदल-बदलकर 40 दिनों तक 2-2 लौंग खाएं। यह प्रयोग सेक्स क्षमता को बढ़ाने वाला बहुत ही सरल उपाय है।

गाजर

1 किलो गाजर, चीनी 400 ग्राम, खोआ 250 ग्राम, दूध 500 ग्राम, कद्यूकस किया हुआ नारियल 10 ग्राम, किशमिश 10 ग्राम, काजू बारीक कटे हुए 10-15 पीस, एक चांदी का वर्क और 4 चम्मच देशी घी ले लें। गाजर को कद्यूकस करके कडा़ही में डालकर पकाएं। पानी के सूख जाने पर इसमें दूध, खोआ और चीनी डाल दें तथा इसे चम्मच से चलाते रहें। जब यह सारा मिश्रण गाढ़ा होने को हो तो इसमें नारियल, किशमिश, बादाम और काजू डाल दें। जब यह पदार्थ गाढ़ा हो जाए तो थाली में देशी घी लगाकर हलवे को थाली पर निकालें और ऊपर से चांदी का वर्क लगा दें। इस हलवे को चार-चार चम्मच सुबह और शाम खाकर ऊपर से दूध पीना चाहिए। यह वीर्यशक्ति बढ़ाकार शरीर को मजबूत रखता है। इससे सेक्स शक्ति भी बढ़ती है।

बरगद

batasha
सूर्यास्त से पहले बरगद के पेड़ से उसके पत्ते तोड़कर उसमें से निकलने वाले दूध की 10-15 बूंदें बताशे पर रखकर खाएं। इसके प्रयोग से आपका वीर्य भी बनेगा और सेक्स शक्ति भी अधिक हो जाएगी।

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *