फिटकरी एक अत्यन्त साधारण-सी चीज हैं, किन्तु अपने गुणों के कारण इसे विशेष महत्त्व प्राप्त है?

ayurvedatips-phitakaree, ayurvedatips, ayurveda tips
यह एक अत्यन्त साधारण-सी चीज हैं, किन्तु अपने गुणों के कारण इसे विशेष महत्त्व प्राप्त है । फिटकरी के भिन्न प्रयोग निम्नलिखित हैं-

चोट-मामूली चोट लगने पर फिटकरी को पीसकर कपड़छान कर लीजिए और चोट वाले स्थान पर लगाकर बांध दीजिए । इससे पकने का डर नहीं रहेगा और खून बहना एकदम बन्द हो जाएगा ।

नेत्र-रोग नेत्रों के लिए अंजन बनाते समय इसका फूला बनाकर काम में लाया जा सकता है ।

दांतों के रोग-दांतों के लिए मंजन बनाते समय आप थोङी-सी फिटकरी डाल लीजिये । यह आपके मसूढों को मजबूत करेगी और उसमें कीटाणुओं को लगने से रोकेगी।

कुक्कर खांसी-कुक्कर खांसी में फिटकरी का फूला बनाकर एक या दो रत्ती दिन में गर्म पानी से तीन-चार बार रोगी को दें तो लाभ होता है ।

दूध को फाङना हो तो उसमें थोङा-सा फिटकारी का चूरा डाल दीजिये । दूध फट जाएगा ।

phitakaree ek atyant saadhaaran-see cheej hain, kintu apane gunon ke kaaran ise vishesh mahattv praapt hai, Alum is a very simple thing, but due to its properties it has special significance, फिटकरी एक अत्यन्त साधारण-सी चीज हैं, किन्तु अपने गुणों के कारण इसे विशेष महत्त्व प्राप्त है, ayurvedatips, ayurveda tips, ayurvedatips-Alum

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *