पेट दर्द के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपचार?

कारण

अधिक भोजन खाने, पाचन दोष होने, हर समय बैठे रहने तथा उदर में वायु भर जाने आदि के कारण पेट फूल जाता है जिससे पेट में दर्द होने लगता है । इसे आमाशयिक शूल (कोलिक पेन) भी कहते हैं।

pet dard ke kaaran, lakshan aur aayurvedik evan ghareloo upachaar? Abdominal pain causes, symptoms and home remedies and herbal? पेट दर्द के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपचार?

लक्षण

पेट दर्द होने पर रोगी को बेचैनी होती है । पेट फूल जाता है।
भोजन ठीक से नहीं पचता । पेट भरा- भरा लगता है । सिर में चक्कर आने लगते हैं । वायु नीचे की अोर नहीं खिसकती तथा बार – बार डकारें आती हैं।

उपचार

गेहूं के चार चम्मच रस में आधा चम्मच सोंठ का चूर्ण तथा एक चुटकी नमक मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें।

  • सोयाबीन का दही खाने से पेट का दर्द ठीक हो जाता है।
  • दो चम्मच मसूर की कच्ची दाल पीसकर गरम पानी में मिला लें । इसका सेवन थोडी – थोडी देर बाद करें।
  • गेहूं की भूसी आधा चम्मच, भुना जीरा आधा चम्मच तथा काला नमक एक चुटकी – तीनों को फांककर आधा गिलास गरम पानी पी जाएं।

pet dard ke kaaran, lakshan aur aayurvedik evan ghareloo upachaar? Abdominal pain causes, symptoms and home remedies and herbal? पेट दर्द के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपचार?

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *