नींद न आना का दूध द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू नुस्खे?

neend na aana ka doodh dvaara aayurvedik chikitsa va ghareloo nuskhe? नींद न आना का दूध द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू नुस्खे? Ayurvedic medicines and home remedies by the milk of not sleeping? ayurvedatips-neend, ayurvedatips, ayurveda tips
कई वार कोई-न-कोई ऐसे कारण उत्पन्न हो जाते हैं कि नींद नहीं आती । रोगी रात-भर बिस्तर में पङा करवटें बदलता रहता है । यदि ऐसे रोगी को एक विशेष ढंग से बकरी के दूध का सेवन कराया जाये तो नींद न आने की शिकायत दूर हो जाती है । ऐसे रोगी को दूध पिलाने की विधि यह है कि सात तोले बकरी का ताजा दूध लें । इसमें एक तोला शर्बत अनाब मिलाकर पिलायें ।

इस प्रकार तीन दिनों तक इसी विधि से दूध पिलाते रहें । इसके पश्चात् एक-एक तोला दूध एवं शर्बत अनाब की थोङी-थोङी मात्रा प्रतिदिन बढ़ाते जायें, यहां तक कि शर्बत की मात्रा चार तोले हो जाये । अब प्रतिदिन जिस प्रकार मात्रा को बढ़ाया गया था, उसी प्रकार प्रतिदिन घटाते जायें, यहां तक कि प्रारम्भिक मात्रा तक पहुंच जायें और फिर तीन दिनो तक इसका सेवन करें । इस उपचार से नींद न आने की शिकायत दूर हो जायेगी ।

neend na aana ka doodh dvaara aayurvedik chikitsa va ghareloo nuskhe? नींद न आना का दूध द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू नुस्खे? Ayurvedic medicines and home remedies by the milk of not sleeping? ayurvedatips, ayurveda tips

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *