ayurvedatips-ras, ayurvedatips, ayurveda tips

मौसमी फलों एवं सब्जियों के रस रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ाते हैं

गर्मी के मौसम से मिलने वाले फलों-नारंगी, अनन्तास, संतरा, तथा सांजियो-पालक, गाजर, अांवला, चुकन्दर आदि के रस शीतलता प्रदान करने के साथ अनेक रोगों को दूर करते हैं । ये शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता से भी वृद्धि करते हैं। इनसे अनावश्यक विटामिंस, खनिज लवण तथा एन्जाइम्स पाए जाते हैं । अत: अच्छे […]

ayurvedatips, ayurveda tips, ayurvedatips-Pepper-mint-benefits-in-hindi

पुदीना द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू उपचार के बारे में जानकारी

गर्मियों के रोगों (दस्त, वमन, हैजा, पेट दर्द, अजीर्ण, चर्म रोग) में शुद्ध और अच्छे किस्म का पुदीना लें। इसको पीसकर रस निकाल लें । फिर छानकर एक शीशी में भर लें । लेकिन यह रस उतना ही रखें जितना दो दिन में प्रयोग करना हो । इसे चीनी के शरबत से मिलाएं । एक […]

ayurvedatips-vegetable-juice, ayurvedatips, ayurveda tips

गर्मियों में स्वास्थ्य रक्षक शरबत तथा पेयों के महत्व

गर्मियों में स्वास्थ्य रक्षक शरबत तथा पेयों के महत्व को नकारा नहीं जा सकता । ऐसे द्रव जहां हमें गर्मी से छुटकारा दिलाकर शीतलता एवं तरोताजगी देते हैं, वहीं वे शरीर को आवश्यक पोषक तत्व और रोग निरोधक शक्ति प्रदान करते हैं । ऐसे शरबतों एवं पेयों का आप भी लाभ उठाइए : छाछ या […]

ayurvedatips-garmee, ayurvedatips, ayurveda tips

लू से बचने के उपाय, लक्षण और उपचार की जानकारी

लू से बचने के उपाय धूप में अधिक समय तक नहीं रहें और छतरी का प्रयोग करें पास में प्याज की एक गांठ कपूर या पुदीना रखें भोजन के साथ प्याज की एक गांठ काटकर और उसमें नीबू मिलाकर खाएं धूप में जाने से पहले एक गिलास पानी पी लें प्यास के वेग को रोकें […]

ayurvedatips-Hungry, ayurvedatips, ayurveda tips

जब पेट मांगे, तब खाना दीजिए

आज प्राय: सभी लोगो के भोजन का समय निश्चित होता है । समय होते ही लोग भोजन करने बैठ जाते है, चाहे भूख लगी हो या नहीं । अत: व्यक्ति भोजन भूख दूर करने के लिए नहीं, स्वाद लेने के लिए करता है । इससे रोगों की उत्पत्ति होती है । दुकानों और कार्यालयों में […]

ayurvedatips, ayurveda tips, ayurveda-vegetables

सब्जियों से अधिकतम लाभ उठाने के उपाय

पोषक तत्वों से भरपूर सब्जियां सब्जियां प्रकृति की अनमोल पदार्थों में शामिल हैं । इनसे हमें आवश्यक विटामिंस, प्रोटीन, खनिज, वसा आदि प्राप्त होते हैं । सब्जियों के अधिक सेवन से सामान्यत: कोई हानि नहीं होती । अत: हम इनका मनचाहा उपयोग कर सकते हैं । ये हमारे स्वास्थ्य के लिए नितांत जरूरी हैं । […]

ayurvedatips-anjeer, ayurvedatips, ayurveda tips

अंजीर द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू उपचार के बारे में जानकारी

अंजीर भारत का एक आम फल है, जिसे साधारण रूप में भी सेवन किया जाता है, किन्तु औषिध के रूप में भी यह अत्यन्त उपयोगी पदार्थ है। भिन्न रोगों से नीचे दिए गए उपायों से लाभ प्राप्त किया जा सकता है । बवासीर दो सुखे अंजीर को शाम को पानी में भिगो देना चाहिए । […]

ayurvedatips, ayurveda tips

भिन्न खाद्य-पदार्थ एवं सावधानियां के बारे में जानकारी होनी चहिए ?

खाने-पीने से हम प्राय: असावधान रहते हैं तथा कभी नहीं सोचते कि साधारण-सी बदपरहेजी भी कभी-कभी कितना भयानक रूप धारण का लेती है । हम से से शायद बहुत कम ऐसे व्यक्ति होंगे जो इस रहस्य से परिचित हों कि ऐसे कौन-से खाद्य-पदार्थ हैं जिन्हें एक साथ सेवन करने से हानि होती है। ऐसे बहुत-से […]

ayurvedatips_dast_kee_samasya, ayurvedatips, ayurveda tips

दस्त की समस्या का दूध द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू नुस्खे?

गाय का आधा सेर दूध लेकर उसे अच्छी प्रकार से उबालने के पश्चात् ठण्डा कर लें । अब लोहे का एक बड़ा टुकड़ा लेकर इसे आग में गरम करके लाल कर लें । अब इसे दूध में डाल दें । इसे इतनी देर तक दूध में पङा रहने दें कि यह ठण्डा हो जाये । […]

ayurvedatips-mirgee, ayurvedatips, ayurveda tips

मिर्गी रोग का दूध द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सा व घरेलू नुस्खे?

मिरगी बहुत भयानक रोग है जिसकी स्थायी चिकित्सा नहीं हो पाती, किन्तु इस में कमी अवश्य आ जाती है । इसके लिये तीन पाव ऊंटनी का ताजा दूध लेकर मिट्टी की हांडी में डाल लें और इसमें चार तोला अंगूरी सिरका मिला दें । अब इसे आग पर गरम करें । जब यह दूध फट […]

ayurvedatips-Tulsi, ayurvedatips, ayurveda tips

तुलसी एक अत्यन्त उपयोगी स्वास्थ्यवर्धक पदार्थ है

भारत से तुलसी के पौधे की पूजा की जाती है और इसका मुख्य कारण तुलसी के बेशुमार गुण ही हैं । इस पौधे के प्रत्येक अंश – अर्थात् पत्ते, फूल, जड़, फल आदि का प्रयोग होता है । तुलसी एक अत्यन्त उपयोगी स्वास्थ्य-वर्द्धक पदार्थ है । इसके प्रयोग से ह्रदय, रक्त, पित्त, कफ, पेचिश, ज्वर, […]

ayurvedatips, ayurveda tips

त्रिफला सिर से पैरों तक के अनेक रोगों की सरल एवं अचूक औषधि है?

तीन महत्त्वपूर्ण पदार्थों-हरङ (हलेला), बहेङा (बलेला), आंवला-के योग का नाम है त्रिफला । ये तीनो पदार्थ जितने साधारण एवं सस्ते हैं इनके गुण उतने ही अधिक हैं । त्रिफला सिर से पैरों तक के अनेक रोगों की सरल एवं अचूक औषधि है । इससे कब्ज दूर होती है, मेदे के भिन्न प्रकार के विकार दूर […]

ayurvedatips, ayurveda tips

भिन्न रोगों का संतरे द्वारा आयुर्वेदिक व घरेलू उपचार जानिये ?

सन्तरा एक ऐसा फल हैं, जिसमें पाये जाने वाले भिन्न तत्व अत्यंत गुणकारी एवं उच्चकोटि के होते हैं। जब हम इसका सेवन करते हैं तो इसके तत्व हमारे शरीर में पहुंचकर खून और तंतुओं को क्षारमयी बना देते हैं । इससे विजातीय द्रव्य शरीर से बाहर निकल जाते हैं । पाचन क्रिया तथा अंतङियों पर […]

ayurvedatips, ayurveda tips

आखिर इतने पानी की हमारे शरीर को क्या आवश्यकता है ? जानिये

हमारे शरीर में 70 प्रतिशत पानी है । सम्भव है कि आपको आश्चर्य हो, किन्तु यह सत्य है कि इतना अधिक पानी हमारे शरीर में रहता है । तब आप यह प्रश्न पूछ सकते हैं कि आखिर इतने पानी की हमारे शरीर को क्या आवश्यकता है ? जी हाॅं, हमारे शरीर को वास्तव में इतने […]

ayurvedatips, ayurveda tips

स्वस्थ रहने के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण पदार्थ है जल ?

जीवित रहने के लिये सर्वाधिक महत्वपूर्ण पदार्थ है जल । अन्य किसी भी खद्य-पदार्थ के अभाव से हम कुछ दिन तो अवश्य ही जीवित रह सकते हैं, किन्तु पानी के अभाव में एक दिन जीवित रह पाना भी कठिन है । हमारे शरीर को सबसे ज्यादा जरूरत पानी की ही होती है । प्यास अनुभव […]

ayurvedatips, ayurveda tips

आयोडीन हमारे शरीर को कहां से एवं किन उपायों से उपलब्ध होती है?

यह जानकारी प्राप्त करना भी अत्यधिक आवश्यक एवं रुचिकर है कि आयोडीन हमारे शरीर को कहां से एवं किन उपायों से उपलब्ध होती है । समुद्र-तट के समीप एक विशेष प्रकार की घास अथवा काई होती है । गर्मी के कारण जब यह गल-सड़ जाती है तो इसमें से आयोडीन की उत्पत्ति होती है तथा […]

ayurvedatips

गठिया या जोड़ों का दर्द के कारण, लक्षण, आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्खे?

यह बङी खतरनाक बीमारी है। जब कभी किसी स्त्री या पुरुष को गठिया हो जाता है तो उसे असहनीय कष्ट उठाना पड़ता है । साधारण रूप से यह रोग युवावस्था से वृद्धावस्था तक ही होता है । परन्तु कभी-कभी यह कम आयु के बालकों को भी होते देखा गया है। लक्षण एवं कारण – यह […]

ayurvedatips

खुजली के कारण, लक्षण, आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्खे?

लक्षण व कारण खुजली एक चर्म रोग है। इसमें छोटे – छोटे दाने शरीर पर उभर आते है। जिनमें बेहद खुजलाहट होती है। न नहाने, अस्वच्छ रहने तथा पसीने की अधिकता से यह रोग हो जाता है। उपचार आंवले के चूर्ण को तेल में मिलाकर मालिश करने से खुजली नष्ट होती है । फोड़े-फुंसी और […]

ayurvedatips

आंखों के आगे अंधेरा, आंखों में लाली व आंख की फूली के कारण, लक्षण, आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्खे?

आंखों के आगे अंधेरा आंखों के आगे अंधेरा आता हो तो आंखों की ज्योति बढ़ा दीजिए। ज्योति वर्द्धन में आंवले सर्वश्रेष्ठ हैं। उपचार- आधा तोला आंवले का मोटा चूरा एक गिलास पानी में डाल दीजिए । सुबह उठने पर उसी पानी से कुल्ला कीजिए और उसी पानी के छोंटे आंखें खोलकर पुतलियों पर मारिए । […]

ayurvedatips_27

नेत्र ज्योति बढ़ाने के आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्खे?

लक्षण व कारण आंखों की ठीक ढंग से सफाई न रखने से तथा हरी सब्जियां, फल, दूध आदि का इस्तेमाल न करने से विटामिन ‘ए’ की कमी हो जाती है जिससे आंखों की ज्योति कमजोर पड़ जाती है और आंखों के विभिन्न रोग हो जाते हैं । आँखों को धूप, धुल, धुएँ से न बचाने […]