भिन्न खाद्य-पदार्थ एवं सावधानियां के बारे में जानकारी होनी चहिए ?

ayurvedatips, ayurveda tips
खाने-पीने से हम प्राय: असावधान रहते हैं तथा कभी नहीं सोचते कि साधारण-सी बदपरहेजी भी कभी-कभी कितना भयानक रूप धारण का लेती है । हम से से शायद बहुत कम ऐसे व्यक्ति होंगे जो इस रहस्य से परिचित हों कि ऐसे कौन-से खाद्य-पदार्थ हैं जिन्हें एक साथ सेवन करने से हानि होती है।

ऐसे बहुत-से खाद्य-पदार्थ हैं जिन्हें साथ-साथ सेवन नहीं करना चाहिए । इनमें से कुछ एक का उल्लेख हम यहां करते हैं –

  • चावल एव सिरका एक साथ सेवन करने से पेट से दर्द और मेदे के विकार उत्पन्न होते है ।
  • अंगूर और मधु (शहद) साथ-साथ सेवन करने से भी मेदे में दर्द उत्पन्न होता है ।
  • पनीर और दही एक साथ सेवन करना ठीक नहीं है क्योंकि इससे ‘कालिक-पेन’ (पेट में चुभन के साथ तीव्र पीङा) नामक रोग हो जाता है।
  • मछली के साथ दूध, शहद या गन्ने का रस नहीं लें । इससे कोढ़ एवं त्वचा के रोग हो सकते हैं ।
  • शहद और घी का एक साथ सेवन फालिज नामक रोग उत्पन्न करता है ।
  • केले के साथ दही और लस्सी का सेवन न केवल पेट में खराबी पैदा करता है बल्कि इससे हैजा भी हो सकता है ।
  • खरबूजे के साथ दही का सेवन करने से भी पेट में पीङा उत्पन्न हो जाती है ।
  • दूध के साथ खट्टे पदार्थ सेवन नहीं करने चाहिए क्योंकि इससे बदहज्मी (अपच) होती है ।
  • खिचङी और खीरा साथ-साथ सेवन करने से पेट-दर्द होता है ।
  • मांस एवं मूली का प्रयोग भी उचित नहीं है ।
  • चाय अथवा दूध सेवन करने से पूर्व अथवा बाद में ठण्डा पानी या लस्सी नहीं पीनी चाहिए ।
  • दूध और शराब का एक साथ सेवन कई बार तो मृत्यु का कारण भी बनता है ।
  • दही के साथ अण्डा या इमली-शहद के साथ खरबूजा, मूली, पानी-खटाई के बाद लस्सी या शर्बत-प्याज और लहसुन के बाद दूध का सेवन-अरहर की दाल के बाद दूध-तेल एवं घी मिलाकर खाने से-और तरह-तरह के बहुत-से खाद्य-पदार्थ एक ही समय में साथ-साथ खाने से मेदे में खराबी उत्पन्न हो जाती है, जिससे अपच, कब्ज, वमन, हैजा आदि विकार उत्पन्न हो सकते हैं । मेदा ही समूचे शरीर की व्यवस्था को ठीक से बनाये रखता है किन्तु जब मेदे में किसी प्रकार का कोई विकार उत्पन्न हो जाता है तो इसका कुप्रभाव सारे शरीर पर ही पड़ता है । इसलिए जहां तक सम्भव हो, खाने-पीने में परहेज करना चाहिए और एक साथ ऐसे खाद्य-पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए जो हानिप्रद सिद्ध हों ।

bhinn khaady-padaarth evan saavadhaaniyaan ke baare mein jaanakaaree honee chahie, Need to know about different food items and precautions, भिन्न खाद्य-पदार्थ एवं सावधानियां के बारे में जानकारी होनी चहिए

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *