बवासीर (अर्श) के लक्षण, कारण व उपचार जानिए

bavaaseer (arsh) ke lakshan, kaaran va upachaar jaanie, Piles (haemorrhoids) Symptoms, Causes and Treatment Know, बवासीर (अर्श) के लक्षण, कारण व उपचार जानिए

लक्षण व कारणा

वात, कफ और पित्त के दूषित होने पर गुदा में मस्से उत्पन्न हो जाते हैं । उसे बवासीर या अर्श कहते हैं । जो मस्से गुदा के बाहरी भाग
में होते हैं उन्हें बाह्य अर्श कहते हैं । जो गुदा के भीतरी भाग में होते हैं उनको आभ्यान्तरार्श कहते हैं । बवासीर में कब्ज, मल कठिनता से होना तथा खून आना साधारण लक्षण हैं । अर्श को बीमारी में दर्द बहुत होता है ।

उपचार

लहसुन, निबौली की गिरी प्रत्येक 20-20 ग्राम लेकर कूट कर 80 ग्राम गुड़ में मिलाकर 10 गाम की गोली बनाकर छाया में रख दें । प्रतिदिन
सुबह-शाम एक-एक गोली खाने पर लाभ होता है । बवासीर में मलावरोध दूर को जाता है ।

bavaaseer (arsh) ke lakshan, kaaran va upachaar jaanie, Piles (haemorrhoids) Symptoms, Causes and Treatment Know, बवासीर (अर्श) के लक्षण, कारण व उपचार जानिए

Post Author: ayurvedatips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *